ziddynidhi

मुझमें इतनी आग है कि मैं तुम्हें तो क्या स्वयं को भी भस्म कर सकती हूँ....... एक ऐसी मानसिक रोगी जो पूर्ण रूप से विप्क्षित है.....!!!!!